Widget Recent Post No.

World No Tobacco Day 2021 Date History Theme Significance In Hindi

विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2021: क्यों मनाया जाता है, कब और कैसे हुई थी इसकी शुरुआत? जानिए सबकुछ।
World No Tobacco Day 2021 Date History Theme Significance In Hindi

कब हुई थी विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाने की शुरुआत? 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और वैश्विक साझेदार हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day-WNTD) मनाते हैं।वार्षिक अभियान तंबाकू के उपयोग और सेकेंड हैंड स्मोक एक्सपोजर के हानिकारक और घातक प्रभावों के बारे में जागरूकता बढ़ाने और किसी भी रूप में तंबाकू के उपयोग को हतोत्साहित करने का एक अवसर है।

World no tobaccu day 2021 theme and subject in hindi।

 थीम व विषय 2021 :

विश्व तंबाकू निषेध दिवस थीम 2021।

इस वर्ष विश्व तंबाकू निषेध दिवस (WNTD) 2021 का थीम व विषय ➛ "छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध (Commit to quit)" है। यह वार्षिक उत्सको तंबाकू के उपयोग के खतरों, तंबाकू कंपनियों की व्यावसायिक प्रथाओं, तंबाकू महामारी से लड़ने के लिए WHO क्या कर रहा है, और दुनिया भर के लोग स्वास्थ्य और स्वस्थ जीवन के अपने अधिकार का दावा करने और भावी पीढ़ियों की रक्षा करने के लिए क्या कर सकते हैं, के बारे में जनता को सूचित करता है।


 मुख्य बिंदु:

About world no tobaccu day in hindi।

यह दिन तंबाकू के उपयोग के खतरों के बारे में जागरूकता पैदा करता है। विश्व तंबाकू निषेध दिवस की पहल को 1987 में WHO द्वारा अपनाया गया था। यह दिन तंबाकू के कारण होने वाली 8 मिलियन से अधिक मौतों की ओर भी ध्यान आकर्षित करता है।


♻️ महत्व (Importance) :

Importance of world no tobaccu day।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार 15 और 24 वर्ष की आयु के लगभग 17% युवा धूम्रपान कर रहे हैं। एक व्यक्ति जो 20 साल की उम्र से पहले धूम्रपान करना शुरू कर देता है, उसके नशे की लत विकसित होने की संभावना अधिक होती है। साथ ही इस दिन वर्ल्ड नो टोबैको अवॉर्ड्स भी बांटे जाते हैं।


🇮🇳 भारत में धूम्रपान करने वाले :


31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) ​से ठीक पहले, Global Burden of Disease ने दुनिया भर में धूम्रपान करने वालों की संख्या पर एक अध्ययन प्रकाशित किया है।


इस अध्ययन के अनुसार, भारत में 2019 में 15-24 आयु वर्ग के लगभग 2 करोड़ धूम्रपान करने वाले थे। यह दुनिया भर में तंबाकू धूम्रपान करने वालों की दूसरी सबसे बड़ी संख्या है। भारत में भी 1990 के बाद से 15-24 आयु वर्ग में धूम्रपान करने वालों की सबसे अधिक वृद्धि देखी गई।


♨️ वैश्विक परिदृश्य :


• इस अध्ययन के अनुसार, 2019 में धूम्रपान करने वालों की संख्या बढ़कर 1 बिलियन हो गई।


• तंबाकू के सेवन से 7 मिलियन लोगों की मौत हुई।


• नए धूम्रपान करने वालों में, 89% 25 साल की उम्र तक आदी हो गए थे।


• दुनिया भर में 155 मिलियन धूम्रपान करने वाले 15-24 आयु वर्ग के हैं।


 धूम्रपान करने वालों की अधिक संख्या वाले देश :

तंबाकू धूम्रपान करने वालों की सबसे अधिक संख्या वाले 10 देशों में वैश्विक तंबाकू धूम्रपान करने वाली आबादी का दो-तिहाई हिस्सा है। शीर्ष 10 देश इस प्रकार हैं- चीन, भारत, इंडोनेशिया, अमेरिका, रूस, बांग्लादेश, जापान, तुर्की, वियतनाम और फिलीपींस।


विश्व तंबाकू निषेध दिवस का इतिहास :

 History of world no tobaccu day in hindi।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 15 मई 1987 को एक प्रस्ताव पारित किया, जिसमें 7 अप्रैल 1988 को पहला विश्व धूम्रपान निषेध दिवस घोषित किया गया। इस तिथि को इसलिए चुना गया क्योंकि यह विश्व स्वास्थ्य संगठन की 40वीं वर्षगांठ थी। फिर 17 मई, 1989 को, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 31 मई को प्रतिवर्ष विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाने का आह्वान करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया। 1989 से हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है

World no tobaccu day kab se manaya jata hai।

✍ सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य :

Important questions realated to world no tobaccu day।

• WHO की स्थापना वर्ष : 7 अप्रैल 1948 🇨🇭

• WHO का मुख्यालय : जिनेवा, स्विट्जरलैंड

• WHO के वर्तमान अध्यक्ष : डॉ. टेड्रोस अधानोम घेब्रेसस (Dr. Tedros Adhanom Ghebreyesus)


स्रोत और संदर्भ:  
1. World No Tobacco Day 
https://www.who.int/campaigns/world-no-tobacco-day 
2. WHO supports people quitting tobacco to reduce their risk of severe COVID-19 
https://www.who.int/news/item/28-05-2021-who-supports-people-quitting-tobacco-to-reduce-their-risk-of-severe-covid-19 

अस्वीकरण नोट: यह लेख विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर तैयार किया गया है। लेख में शामिल सूचना व तथ्य आपकी जागरूकता और जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किए गए हैं। किसी भी तरह की बीमारी के लक्षण हों अथवा आप किसी रोग से ग्रसित हों तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ